ट्रेन की पटरी में जंग क्यों नहीं लगता? जानिए कारण

0
898
train ki patari me jang kyo nahi lagta

ट्रेन में अक्सर हम में से कई लोग ट्रैवल करते है, परंतु काफी कम ऐसे लोग होते हैं जो यह सोचते हैं की आखिर ट्रेन की पटरी में जंग क्यों नहीं लगता? बचपन से आपने अब तक रेलवे ट्रैक को बदलते या फिर पेंट करवाते नहीं देखा होगा!

ऐसे में कुछ लोगों के मन में इस सवाल का जवाब पाने की उत्सुकता रहती है अगर आप भी उन गिने-चुने लोगों में से एक हैं! तो दोस्तों आज हम इस लेख में आपको आपके इस प्रश्न का जवाब देने वाले हैं।

दोस्तों 24 घंटे हवा और नमी के संपर्क में रहने वाली ट्रेन की पटरी एक नहीं दो नहीं बल्कि सैकड़ों सालों से आज भी उसी तरह चल रही है जैसे कि यह उस समय चलती थी, जब ट्रेन के ट्रैक को बनाया गया था। तो आइए जानते हैं

ट्रेन की पटरी में जंग क्यों नहीं लगता?

ट्रेन की पटरी जिस स्टील से बनी होती है वह कोई सामान्य स्टील नहीं होता। यह जंग प्रतिरोधक स्टील होता है। इस जंग प्रतिरोधी स्टील में कई सारे रासायनिक तत्वों का मिश्रण होता है।

जिनमें से सबसे मुख्य तत्व है मैंगलॉय, जी हां स्टील में मैंगलॉय मिला होता है। स्टील और मैंगलॉय के इस मिश्रण को टेक्निकली हम मैंगनीज स्टील या फिर Hadfield steel भी कहते है।

यही नहीं ट्रेन की पटरी में स्टील के अलावा 12% मैग्नीज और 1 % कार्बन होता है! और इन सारे रासायनिक तत्वों से मिलकर स्टील की पटरी बनाई जाती है। जिस कारण स्टील के ऑक्सीरेशन की प्रक्रिया काफी धीमी हो जाती है।

जो ट्रेन की पटरी को सालों तक आसमान के नीचे होने के बावजूद भी उसे जंगरोधी बना देता है।

अतः संक्षेप में कहा जाए जंग प्रतिरोधक तत्वों का इस्तेमाल ट्रेन के ट्रैक्स को बनाने के लिए किया जाता है। अतः ट्रेन में जंग लगने का मुख्य कारण है ट्रेन की पटरियों में इस्तेमाल होने वाला मेटेरियल

तो दोस्तों यह था वह कारण जिस वजह से अंग्रेजों के जमाने में तैयार किए गए ट्रैक्स में आज भी ट्रेन सरपट दौड़ती हैं और उनमें जंग नहीं लगता।

ट्रेन के पीछे X क्यों लिखा होता है?

अक्सर आप ट्रेन से गुजरती किसी ट्रेन के पीछे x लिखा हुआ देखते होंगे, सफेद या पीले रंग में बनाया गया यह निशान लगभग भारत की सभी पैसेंजर ट्रेंस में आपको दिखाई देगा।

ट्रेन के पीछे लिखा गए X यह संकेत देता है कि यह ट्रेन का अंतिम डिब्बा है।

और हां एक और बात बता दें कि किसी ट्रेन के पीछे X के साथ LV लिखा होता है जिसकी फुल फॉर्म होती है Last vehicle अर्थात $आखिरी डिब्बा” तो एक्स या फिर कोई भी ट्रेन पर LV लिखा दिखाई देता है तो समझ जाइए यह ट्रेन का आखिरी डिब्बा है।

आमतौर पर ट्रेन के पीछे लिखे गए एक्स के साथ LV दिखाई दिखाई देता है।

और हां, कभी आपको अगर उस ट्रेन के पीछे X लिखा हुआ ना दिखाई दे तो समझ जाइए यह ट्रेन अभी आपातकालीन स्थिति में है।

तो अगली बार जब भी आपको ट्रेन में एक्स दिखाई दे तो समझ जाइएगा की X का मतलब क्या है। और अगर कोई आपका दोस्त या कोई प्रियजन पूछे तो उस तक भी यह जानकारी आप पहुंचा सकते हैं।

यह पोस्ट पढ़ें:-

Telegram se Movie Download kaise kare? New Movie channel link

Online mobile recharge kaise kare? घर बैठे अपने मोबाइल से

•  snack video app kis desh ka hai? 

Mobile se paise kaise kamaye? 9 Gajab Tarike Mobile se Kamane ke

हमें आशा है आज की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद ट्रेन की पटरी में जंग क्यों नहीं लगता? अब आप जान गए होंगे। आपको यह रोचक तथा उपयोगी जानकारी कैसी लगी आप हमें कमेंट सेक्शन बताएं। साथ ही अगर आपको भी ऐसे ही रोचक पोस्ट पढ़ने हैं तो आप अपने सवालों को कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

और इस पोस्ट को शेयर करना बिल्कुल ना भूलें😊

Leave a Reply